Tuesday , June 18 2019

Movie Review: जबरदस्त एक्टिंग पर भारी पड़ी कंफ्यूज करती कमजोर कहानी

शबफिल्म–  शब

रेटिंग2.5

सर्टिफिकेट– U/A

अवधि–   2घंटा 20मिनट

स्टार कास्टरवीना टंडन, अर्पिता चटर्जी, आशीष बिष्‍ट, गौरव नंदा, सिमोन फ्रेने और अरीज़ गंड्डी

डायरेक्टरओनीर

प्रोड्यूसरसंजय सूरी

म्यूजिकमिथुन

कहानी– आशीष बिष्ट अपने गाँव से मॉडल बनने के लिए दिल्ली आतें है। इस कॉम्पटीशन में आशीष हिस्‍सा लेता है। वह हार जाता है लेकिन उस कॉम्पटीशन की जज रवीना टंडन का दिल दे बैठता है।

वहीं अर्पिता अपनी छोटी बहन के साथ दिल्ली में आ जाती है। वह एक होटल में काम करती है। अर्पिता को अपने पड़ोसी के साथ समय बिताना पसन्द होता है।

तीसरी कहानी एक ऐसे किरदार की एंट्री होती है जिसे अबतक ट्रेलर और प्रमोशन से अछूता रखा जाता है। वह किरदार एक होटल के मालिक का है। उसे एक लड़के से प्यार है। इसी तरह कहानी आगे बढ़ती है। ट्विस्‍ट एंड टर्न से गुजरने के बाद कहानी अपने अंजाम तक पहुंचती है।

यह भी पढ़ें: Movie Review- देर से आई पर दुरुस्त रही ‘जग्गाा जासूस’

एक्टिंग– फिल्‍म के सभी किरदारों ने अपना अच्‍छा प्रदर्शन किया है। सभी ने अच्‍छी एक्‍टिंग की है। पूरी स्‍टार कास्‍ट ने अपने किरदार से पूरी तरह न्‍याय किया है।

यह भी पढ़ें:  Movie Review- हर एंगल से जबरदस्‍त है ‘वॉर ऑफ द प्लेनेट्स ऑफ द एप्स’

डायरेक्शन–  फिल्म का डायरेक्शन अच्‍छा है। कैमरा एंगल अच्‍छा है। सिनेमेटाग्राफी में मेहनत की गई है। डायरेक्‍टर ओनीर जैसी फिल्‍में बनाते है वैसी ही कहानी दिखी है। कुछ नया देखने को नहीं मिला है। कहानी की पकड़ काफी कमजोर है। कुछ जगह कहानी उलझी हुई और बोरिंग नजर आती है। कहानी बहुत धीमी लगती है।

म्यूजिक– फिल्म शब के गाने दर्शकों के दिल जगह बनाने में असफल साबित हुए हैं। फिल्‍म शब के गाने कहानी के मुताबिक अच्‍छे हैं लेकिन ज्‍यादा फेमस नहीं हुए हैं।

देखें या नहीं–  फिल्‍म शब की स्‍टार कास्‍ट की अच्‍छी एक्‍टिंग और बेहतर सिनेमेटोग्राफी देखने सिनेमाहॉल जा सकते हैं।