Tuesday , December 18 2018

सुविचार

प्रेरक प्रसंग : रूप या गुण

सम्राट चंद्रगुप्त ने एक दिन अपने प्रतिभाशाली मंत्री चाणक्य से कहा- “कितना अच्छा होता कि तुम अगर रूपवान भी होते।“ चाणक्य ने उत्तर दिया, “महाराज रूप तो मृगतृष्णा है। आदमी की पहचान तो गुण और बुद्धि से ही होती है, रूप से नहीं।“ “क्या कोई ऐसा उदाहरण है जहाँ गुण ...

Read More »

आज का सुविचार

साँप घर पर दिखाई दे तो लोग डंडे से मारते हैं और शिवलिंग पर दिखाई दे तो सम्मान करते हैं। अर्थात :- लोग सम्मान आपका नहीं आपकी स्थिति और स्थान का करते हैं।

Read More »

आज का सुविचार

ईश्वर ने दूसरों को क्या दिया है, यह देखने में हम इतने व्यस्त होते हैं कि ईश्वर ने हमें क्या दिया है, वो देखने का हमें वक़्त ही नहीं होता है।

Read More »

आज का सुविचार

अगर आपको अपनी सफलता के बारे में खुद दूसरों को बताना पड़ता है, तो समझ जाइए कि अभी आपकी असली सफलता आपसे दूर है.

Read More »

आज का सुविचार

कुम्हार जब घड़ा बनाता है, तो बाहर से तेज थपथपाता है और अन्दर प्यार से सहलाता है। एक सुन्दर मजबूत इन्सान बनने के लिए, अपने कुम्हार (ईश्वर) पर भरोसा रखिए, वो हमें टूटने नही देगा…

Read More »