Friday , September 22 2017

40 लाख लेकर फरार कैशियर गिरफ्तार

कैशियरदेहरादून। केदारनाथ धाम में लगाए गए प्रीपेड काउंटर के 40 लाख रुपये लेकर फरार कैशियर को स्पेशल टास्क फोर्स ने तकरीबन चार साल बाद गिरफ्तार कर लिया। कैशियर केदारनाथ धाम में आई आपदा के बाद लापता हो गया था। उस पर डीआइजी स्तर से पांच हजार रुपये का ईनाम भी घोषित था।

केदारनाथ धाम में प्रशासन की ओर से गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर घोड़े, खच्चर व कंडी के प्रीपेड बुकिंग के लिए काउंटर लगाया गया था। यहां होने वाली आय को बैंक में जमा कराने के लिए 13 से 15 जून 2013 के मध्य लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड रुद्रप्रयाग के कनिष्ठ सहायक प्रकाश गोस्वामी पुत्र वीरेंद्र गोस्वामी निवासी ग्राम गंगतल पटवारी वृत्त बेलड़ी तहसील, जिला रुद्रप्रयाग की ड्यूटी लगाई गई थी। मगर तभी केदारनाथ धाम में आपदा आ गई।

CM योगी ने तिरंगा फहराकर जश्न-ए आजादी का किया आगाज, कहा- यूपी से ही देश की समृद्धि

इस दौरान काउंटर पर जमा लगभग 40 लाख रुपयों को लेकर उसके मन में खोट आ गया और रकम समेत फरार हो गया। उसके खिलाफ रुद्रप्रयाग के तत्कालीन जिला साहसिक खेल अधिकारी की तहरीर पर एक अक्टूबर 2013 को गबन और धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करा दिया गया।

कठिन परीक्षाओं में पास हुआ लखनऊ मेट्रो, सीएमआरएस ने दी हरी झंडी

एसटीएफ ने बताया कि इस दौरान उसके भाई ने प्रकाश की आलमारी से आठ लाख रुपये मिलने की बात बताते हुए जिला साहसिक अधिकारी के खाते में रकम जमा करा दी थी। सोमवार को एसटीएफ को सूचना मिली कि प्रकाश एक रिश्तेदार से मिलने दून आ रहा है। इस पर एसटीएफ ने आइएसबीटी में उसे एक बस से उतरते ही गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी एसटीएफ रिदिम अग्रवाल ने बताया कि कैशियर को रुद्रप्रयाग पुलिस के हवाले कर दिया गया है।