Friday , November 24 2017

सीएम योगी आज करेंगे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण, बांटेंगे राहत सामग्री

सीएम योगीलखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में बाढ़ का कहर जारी है. आधा दर्जन के सैकड़ों गांव इन दिनों बाढ़ की चपेट में हैं. सीएम योगी शुक्रवार को बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित सिद्धार्थनगर और बलरामपुर जिले का हवाई सर्वेक्षण करेंगे. मुख्यमंत्री इस दौरान बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत सामग्री भी बांटेंगे. इतना ही नहीं मुख्यमंत्री बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्यों का जायजा भी लेंगे.

गौरतलब है कि पूर्वांचल के गोरखपुर, महाराजगंज, बलरामपुर, बस्ती, बहराइच कुशीनगर, सिद्धार्थनगर और लखीमपुर खीरी बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. नेपाल से बहने वाली नदियों की वजह से इन जिलों के सैकड़ों गांव बाढ़ के पानी में डूब गए हैं. इसके अलावा यूपी के 22 जिले फिलहाल बाढ़ की चपेट में हैं.

स्वाइन फ्लू और डेंगू से महिला की मौत, दहशत में इलाके के लोग

बाढ़ की वजह से जहां सैकड़ों लोग पलायन कर चुके हैं, वहीं हजारो बीघा फसल चौपट हो गई है. सरकार ने बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं.

गोरखपुर में भी बाढ़ से करीब 50 हजार लोग प्रभावित हैं. रोहिणी नदी के तांडव की वजह से करीब 80 गांव डूब चुके हैं. फिलहाल एनडीआरएफ की टीम राहत कार्यों में जुटी हुई है.

आरोपी को छुड़ाकर थाने से ले गए भाजपा नेता,पुलिस बनी रही मूकदर्शक

महाराजगंज में बाढ़ में बह गईं तीन किशोरियां

यूपी के महाराजगंज में भी बाढ़ का तांडव जारी है. इस जिले के करीब 180 गांव बाढ़ की चपेट में हैं. गुरुवार को पानी के तेज बहाव में तीन किशोरियों के बह जाने से उनकी मौत हो गई. वहीं कुशीनगर में निपल बॉर्डर से सटे सुस्ता गांव में कई मवेशियों और दो चरवाहों के बह जाने की सूचना है.

रेल और संचार व्यवस्था ठप

बाढ़ की वजह से बिहार से आने वाली ट्रेनों पर भी असर पड़ा है. जहां कई ट्रेनें रद्द करनी पड़ी हैं तो वहीं कईयों के रूट को डायवर्ट करना पड़ा है. इतना ही नहीं सड़क यातायात भी कई इलाकों में ठप है. संचार व्यवस्था भी पूरी तरह चौपट हो चुकी है.