Friday , September 22 2017

सरहद पर उत्तराखण्ड का एक और लाल शहीद, बेटियों ने दी चिता को आग

शहीद जवानरिपोर्ट- संजय आर्या

हरिद्वार। कश्मीर के उड़ी सेक्टर में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखण्ड का एक और लाल शहीद हो गया। देहरादून के विकासनगर के रहने वाले शहीद जवान नरेंद्र सिंह बिष्ट का हरिद्वार के खड़खड़ी श्मसान घाट में अंतिम संस्कार हुआ। शहीद नरेंद्र सिहं की दोनों बेटियों और छोटे भाई ने उन्हें मुखाग्नि दी।

एबीवीपी ने प्रचार के लिए पुलिस चौकी पर लगाया पोस्टर,एफआईआर दर्ज

इस दौरान शहीद की बेटी ने कहा कि “ मेरे पिता ने देश लिए अपनी जान कुर्बान की है, सरकार को पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वो सामने आकर युद्ध करें”।

वहीँ लोगों ने शहीद की अंतिम यात्रा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए।

शहीद की अंतिम यात्रा सेना के बैंड की मातमी धुन पर घर से निकली।

बता दें कि, पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग के दौरान नरेंद्र के सिर पर गोली लगी थी। बुधवार सुबह हुई मौत के बाद उनका पार्थिव शरीर देर शाम को उनके गांव सेलाकुई पहुंचा। जिसके बाद पूरे गांव में मातम छा गया। शहीद हवलदार नरेंद्र सिंह बिष्ट चौथी गढ़वाल रायफल में थे और उस समय कश्मीर के उरी सेक्टर में तैनात थे।

रक्षाबंधन के दिन 7 अगस्त को सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से की गई अंधाधुंध फायरिंग में हवलदार नरेंद्र सिंह बिष्ट गंभीर रूप से घायल हो गए थे और तब से जम्मू के मिलिट्री अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। जहां बुधवार सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली थी।

देखें वीडियो :-