Wednesday , November 13 2019

श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत, 85 साल बाद किया सूपड़ा साफ

श्रीलंका का सूपड़ा साफकैंडी। भारतीय क्रिकेट टीम ने पेल्लेकेले अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में श्रीलंका को एक पारी और 171 रनों से हरा दिया। इसके साथ भारत ने यह सीरीज 3-0 से अपने नाम कर ली है। भारत ने इस सीरीज में दो बार पारी के अंतर से जीत हासिल की है। दूसरा टेस्ट भी भारत ने पारी के अंतर से जीता था। भारत ने पहली बार तीन मैचों की सीरीज में अपने देश के बाहर श्रीलंका का सूपड़ा साफ किया है।

…तो इस खिलाड़ी के साथ था ब्रेट ली की पत्नी का अफेयर

विराट कोहली भारतीय टेस्ट क्रिकेट के 85 सालों के इतिहास में पहले ऐसे कप्तान हैं, जिनकी अगुवाई में टीम इंडिया ने पहली बार विदेश में तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 से वाइटवॉश किया है। उनसे पहले कोई भी भारतीय कप्तान विदेशी सरजमीं पर तीन या उससे ज्यादा टेस्ट मैचों की सीरीज को क्लीन स्वीप नहीं कर सका है।

पहले सत्र की समाप्ति तक फॉलोऑन खेल रही उतरी श्रीलंका की टीम चार विकेट के नुकसान पर केवल 82 रन ही बना पाई।

रविचंद्रन अश्विन ने दिमुथ करुणारत्ने को 16 के निजी स्कोर पर पैवेलियन भेजा था, पिच पर उतरे कुशल मेंडिस अभी टिक भी नहीं पाए थे कि पुष्पकुमारा को मोहम्मद शामी ने विकेट के पीछे ऋद्धिमान साहा के हाथों लपकवा दिया। इसके बाद जल्द ही कुशल मेंडिस को भी शामी ने पगबाधा आउट कर वापस भेज दिया।

दिन का खेल शुरु होने के वक्त तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में वाइटवॉश करने के लिए टीम इंडिया को सिर्फ 9 विकेट चटकाने बाकी थे, और अब लग रहा है कि सीरीज़ का आखिरी टेस्ट मैच खेल के तीसरे दिन ही खत्म हो जाएगा।

भारतीय बल्लेबाज़ों के शानदार प्रदर्शन, और खासतौर से हार्दिक पंड्या के चौकों-छक्कों से सजे बेहतरीन शतक की बदौलत टीम इंडिया ने पहली पारी में 487 रन बनाए थे, जिनके जवाब में श्रीलंकाई टीम पहली पारी में सिर्फ 37।4 ओवरों में 135 रन पर सिमट गई।

भारतीय गेंदबाज़ों में कुलदीप यादव ने चार, रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शामी ने दो-दो विकेट चटकाए, तथा हार्दिक पंड्या ने एक मेज़बान खिलाड़ी को पैवेलियन लौटाया।

इसके बाद फॉलोऑन खेलते हुए श्रीलंकाई टीम ने सलामी बल्लेबाज़ उपुल तरंगा के रूप में अपना पहला विकेट फिर जल्दी गंवा दिया, और स्टम्प्स के समय मेज़बान टीम एक विकेट के नुकसान पर 19 रन बनाकर पारी की हार से बचने के लिए संघर्ष कर रही थी।

बोल्ट हमेशा… एथलेटिक्स के पर्याय के रूप में याद किए जाएंगे

बता दें साल 1967 में टीम इंडिया न्यूजीलैंड दौरे पर गई थी जहां उसने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज पर 3-1 से जीत हासिल की थी। अब 50 साल बाद एक बार फिर टीम इंडिया ने विदेशी धरती पर श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में 3 टेस्ट मैच जीतने का कारनामा किया है। टीम इंडिया ने 2004 में बांग्लादेश और 2005 में जिम्बाब्वे में जरूर सीरीज क्लीन स्वीप की थी, लेकिन वो सिर्फ 2 टेस्ट मैचों की सीरीज थी।