Friday , November 24 2017

‘वंदे मातरम न गाने वालों के लिए देश में जगह नहीं’

वंदेमुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि जो भी वंदे मातरमो नहीं गाएगा उसे देश से बाहर निकल जाना चाहिए। शिवसेना सांसद का यह बयान बीएमसी के उस फैसले के बाद आया है जिसमें गुरुवार को बीएमसी और उसके अनुदान पर चलने वाले सभी स्कूलों में वंदे मातरम अनिवार्य करने के प्रस्ताव को पास कर दिया था। बीएमसी के इस फैसले का विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं। इस प्रस्ताव पर महाराष्ट्र के सीएम की मुहर लगनी जरूरी है।

स्कूलों में वंदेमातरम के अनिवार्य करने को लेकर विरोधी दलों का कहना है कि ये सरासर गलत है। उनका कहना है कि किसी को जबरदस्ती कुछ करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते। एआईएमआईएम के विधायक वारिस पठान ने इस फैसले पर आपत्ति जताते हुए इसे असंवैधानिक बताया। उन्होंने कहा कि संविधान में कहीं नहीं लिखा गया है कि आपको वंदे मातरम गाना ही पड़ेगा। वारिस पठान ने यह भी कहा है कि अगर इसे जबरदस्ती थोपा गया तो इसका अंजाम भुगतना होगा।

यह भी पढ़ें: 4 दिन से शेयर मार्केट में हाहाकार, निवेशकों ने गंवाए 6.4 लाख करोड़ रुपए

वहीं, शिवसेना सांसद संजय राउत ने बीएमसी के इस फैसले की सराहना करते हुए कहा है कि यह एक बढ़िया कदम है। किसी को भी वंदेमातरम से आपत्ति नहीं होनी चाहिए। राउत ने यह भी कहा कि जिस किसी को भी इससे आपत्ति है उसे देश से बाहर निकल जाना चाहिए।