Friday , September 22 2017

योगी सरकार के लिए फिर चुनौती बना मुस्लिम समुदाय, सरकार से मांगी सुरक्षा

जामिया उलेमा की तरफ सेमुरादाबाद। जामिया उलेमा की तरफ से गुरुवार को यहां के जिलाधिकारी को संबोधित एक पत्र सौंपा गया, जिसमें हज पर जाने वाले मुसलमानों और ईद-उल-अजहा (बकरीद) के मौके पर सुरक्षा की मांग की गई।

पत्र में कहा गया है कि प्रदेश के कोने-कोने से हज पर जाने वाले मुसलमानों का एयरपोर्ट पहुंचना शुरू हो गया है। उनकी जानमाल व इनके आने-जाने की सुरक्षा व्यवस्था सरकार का दायित्व है, जिसे देखते हुए सरकार इस पर गौर फरमाए और इनकी सुरक्षा सुनिश्चित किए जाने की पहल करे।

पश्चिम बंगाल निकाय चुनावों में TMC का जलवा बरकरार, BJP ने भी दिखाया ‘दम’

कलेक्ट्रेट पर मौजूद उलेमाओं ने कहा कि ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बानी के फरिजे को अदा करने में कोई बाधा व कठिनाई न आए, इसके लिए सरकार की तरफ से प्रतिबंधित पशुओं के आलावा दीगर पशुओं के घरों तक लाने व ले जाने और उनकी कुर्बानी करने में सुरक्षा का इंतजाम किया जाए, ताकि ईद-उल-अजहा त्योहार सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाया जा सके।

सीएम योगी का बड़ा बयान- सड़कों पर नमाज नहीं रोक सकता, तो थानों में जन्माष्टमी कैसे रोकूं?

जमीयत उलेमा मुरादाबाद के जिला अध्यक्ष मौलाना मोहम्मद अय्यूब मजाहिरी ने कहा, “हमें पूरी उम्मीद है कि उत्तर प्रदेश सरकार व यहां का प्रशासन सभी धर्म के मानने वालों का ध्यान रखते हुए मुसलमानों को अपने धार्मिक कर्तव्य का पालन करने में पूरा सहयोग देगी।”