Thursday , July 18 2019

ये बेर दिखने में है काली लेकिन फायदे हैं निराले

ब्लैक रस्पबेरीवैज्ञानिकों ने एक ताजा अध्ययन में पता लगाया है कि उत्तरी यूरोप में पैदा होने वाली ब्लैक रस्पबेरी (एक तरह की काली बेर) इसी प्रजाति के अन्य फलों रस्पबेरी और ब्लैकबेरी से अधिक स्वास्थ्यवर्धक होती हैं। शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट्स की वजह से स्वास्थ्य लाभ के मामले में बेरें दुनिया भर में सर्वोत्तम फल मानी जाती हैं और इन्हें हृदय रोग, कैंसर, गठिया और सांस के रोग में भी उपयोगी माना जाता है।

शोध वैज्ञानिक अन्ना मागोरजटा कोस्टेका गुगा के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के एक दल ने काली और लाल रस्पबेरी तथा ब्लैकबेरी में मौजूद फीनोलिक्स और एंथोसियानिन्स की मात्रा और उनसे होने वाले स्वास्थ्य लाभ का अध्ययन किया।

इस अध्ययन के आधार पर शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की है कि प्राकृतिक उपज में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी गुणों से सीधे-सीधे संबंधित है। यह अध्ययन शोध पत्रिका ‘ओपन केमिस्ट्री’ में प्रकाशित किया गया है।

अध्ययन में पाया गया कि काली बेर में अन्य फलों की तुलना में तीन गुना अधिक एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं।

अलजाइमर के रोगियों के लिए वरदान हैं आयुर्वेद के ये ‘पंचकर्म’

उल्लेखनीय है कि ब्लैक रस्पबेरी में फीनोलिक्स यौगिक दूसरी प्रजाति की रस्पबेरीज की तुलना में 1,000 प्रतिशत से भी अधिक पाया गया।

फीनोलिक यौगिक भोजन के रखरखाव में इस्तेमाल किया जाता है। इसके प्रयोग से भोजन का रंग, स्वाद अधिक समय तक तरोताजा बना रहता है। कई फीनोलिक भी एंटीऑक्सीडेंट गुणों से युक्त होते हैं।

पत्तागोभी की हर एक परत में छुपा है कई बीमारियों को नष्ट करने का राज

सबसे दिलचस्प बात यह है कि, काली बेर माध्यमिक चयापचय के रूप में अति लाभदायक हैं जो मानव स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।