Wednesday , November 13 2019

अब तक 130 की जान ले चुका है ये खतरनाक गेम

गेम ब्लू व्हेलहम बचपन से ही किसी न किसी गेम के शौकीन हैं। गेम कोई भी हो मनोरंजन और टाइम पास का सबसे बढ़िया साधन है। आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में हम अपने पसंदीदा गेम के लिए समय निकाल लेते हैं। इंटरनेट की दुनिया में तो गेम्स की भरमार है। सोशल मीडिया ने तो लोगों को इसकी लत लगा दी। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि जो गेम हम खुद को तनाव से दूर रखने के लिए खेलते हैं वो जान भी ले सकता है। जी हां ये सच है। एक ऐसा ही गेम है गेम ब्लू व्हेल, जो अब तक 130 टीनएजर्स की जान ले चुका है। अगर आप अभी तक इस गेम से अंजान हैं तो यहां पढ़कर ही काम चला लें।

रूस में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर खेला जाने वाले गेम ब्लू व्हेल के चलते 130 टीनएजर्स को मौत की नींद सुला चुका है। अब इसे ब्रिटेन में लॉन्च करने की तैयारी की जा रही है।

गेम की शुरूआत में यूज़र को एक ‘मास्टर’ मिलता है। ये मास्टर अगले 50 दिनों तक यूज़र को कंट्रोल करता है और रोज़ के लिए एक टास्क देता है। ज़्यादातर टास्क ऐसे होते हैं जिनमें खुद को नुकसान पहुंचाना होता है। मसलन अपनी स्किन को ब्लेड से खुरच कर एक ब्लू व्हेल बनाना, दिन-दिन हॉरर फिल्में देखना और देर रात को जागना।

गेम में शामिल होने वाले ज़्यादातर टीनएजर्स डिप्रेशन में आ जाते हैं। गेम उनकी कमज़ोरियों को टार्गेट करता है। उन्हें इस तरह की तस्वीरें और वीडियो दिखाए जाते हैं जो उन्हें ज़िंदगी पर सवाल उठाने को कहते हैं। और जब 50वें दिन उनसे अपनी ज़िंदगी खत्म कर गेम जीतने को कहा जाता है, वो खुद को रोक नहीं पाते।

जब पूरे देश से टीनएज बच्चों (खासतौर पर लड़कियों के) की खुदकुशी की खबरें आईं तब पुलिस का ध्यान इस तरफ गया। ये सभी टीनएजर्स गेम ब्लू व्हेल के शौकीन थे। एक मामले में तो दो टीनएज लड़कियों ने 14 वीं मंज़िल से कूद कर जिंदगी खत्म कर ली।

इन दोनों ने आत्महत्या से पहले फेसबुक पर मिलते जुलते पोस्ट डाले थे। यूलिया ने एक ब्लू व्हेल की तस्वीर के साथ पोस्ट किया – ”End”। वेरौनिका ने लिखा, ”Sense is lost…End”।

इन दोनों की तरह ही कई बच्चों ने कभी बिल्डिंग से कूद कर तो किसी ने ट्रेन के सामने आकर जान दे दी। 2016 में फिलिप बुदिकीन नाम के शख्स को ब्लू व्हेल जैसे सूसाइड ग्रुप्स बनाने के इल्ज़ाम में पकड़ा गया। फिलिप के पकड़े जाने पर मामलों में कमी आई, लेकिन उसे तकरीबन 20 मामलों में ही दोषी माना गया है।

अब तक कम से कम 130 टीनेजर ने गेम ब्लू व्हेल के कारण मौत के मुंह में जा चुके हैं। कई बच्चों को बचाया भी गया है। फिलहाल ब्लू व्हेल गेम बैन नहीं हुआ है। अब ये गेम ब्रटेन में लॉन्च होने जा रहा है और इसी वजह से लोग परेशान हैं।