Friday , November 24 2017

यूपी पुलिस ने बीजेपी का जिला अध्यक्ष बनाने की सुपारी ले रखी है: अखिलेश यादव

यूपी पुलिसलखनऊ। औरैया मसले पर पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला. अखिलेश ने कहा कि बीजेपी की सरकार में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न किया जा रहा है. ऐसा लग रहा है कि पुलिस ने बीजेपी के जिला अध्यक्ष बनाने के लिए सुपारी ले रखी है.

पूर्व विधायक और सांसद प्रदीप यादव की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए कहा, “क्या कोई कल्पना कर सकता है कि कोई पुलिस अधिकारी किसी पूर्व सांसद से पूर्व विधायक से हाथापाई कर सके. एक आईपीएस चिपक-चिपक कर हाथापाई कर रहा है.”

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि पुलिस ने बीजेपी का जिला अध्यक्ष बनाने की सुपारी ले रखी है. “हमारे कार्यकर्ता, जिला पंचायत सदस्य डरे हुए हैं. रात भर सो नहीं पा रहे हैं. उन पर दबाव बनाया जा रहा है कि बीजेपी को वोट करें. जो ऐसा नहीं कर रहा है उसका उत्पीड़न किया जा रहा है.”

सीएम योगी आज करेंगे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण, बांटेंगे राहत सामग्री

बता दें गुरुवार को अखिलेश पूर्व विधायक प्रदीप यादव से मुलाकात करने औरैया जा रहे थे, तभी उन्हें और उनके समर्थकों को गिरफ्तार किया था. प्रदीप यादव को हंगामा व मारपीट करने के आरोप में अवाना पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. बता दें कि जिला पंचायत अध्यक्ष के नामांकन के दौरान बवाल होने के बाद प्रदीप यादव को गिरफ्तार किया गया था.

अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्यू इंडिया पर तंज कसते हुए कहा कि यूपी में डिजिटल सीएम बैठा है. डिजिटल सीआईएम को कुछ दिखाई नहीं दे रहा. थानों में कृष्णजन्माष्टमी मनाने पर रोक लगाने वाले आरोप पर अखिलेश ने कहा, ” डिजिटल सीएम बताएं कहां से उन्हें पता चला कि थानों में जन्माष्टमी नहीं मनाई जा रही है. बताएं 100 साल में एक बार भी थानों में अगर जन्माष्टमी न मनाई गई हो. अब जब भी समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी हर थानों को 5-5 लाख रूपये जन्माष्टमी मानाने के लिए देंगे.”

गोरखपुर में बच्चों के मौत के मामले सरकार ने सच छुपाया है. ऑक्सीजन सप्लाई में भ्रष्टाचार हुआ है. इसकी जांच सीबीआई से कराकर सरकार सच सामने लाए.

अब घर लेना हुआ और भी आसान, लोन आप लेंगे EMI बैंक भरेगा !

किसानों की कर्जमाफी पर अखिलेश यादव ने योगी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि किसानों को लघु, सीमांत की श्रेणी में बांट दिया गया है. ऋण माफी में बीजेपी सरकार ने कई पेंच फंसा दिए. हमें पूरे प्रदेश में कर्ज माफी की उम्मीद थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

उन्होंने कहा कि हसनगंज क्षेत्र के एक भी किसान की नहीं कर्जमाफी नहीं हुई है. 3 गांवों के किसानों से उन्होंने बात करके पूछा लेकिन किसी की कर्जमाफी नहीं हुई है. आज किसान कह रहे हैं कि उनके साथ धोखा हुआ.