Tuesday , July 23 2019

भारतीय दूरसंचार बाजार पहुंचेगा 6600 अरब डॉलर के पार

भारतीय दूरसंचारनई दिल्ली। संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को कहा कि भारतीय दूरसंचार उद्योग वॉयस-केंद्रित बाजार से हटकर डेटा-केंद्रित बाजार में बदल रहा है और साल 2020 तक इसके 6600 अरब डॉलर के पार करने का अनुमान है।

भारतीय दूरसंचार उद्योग पर एक कार्यशाला में सिन्हा ने कहा, “परिचालन राजस्व में अभी भी वॉयस कारोबार का प्रमुख योगदान है, लेकिन पिछले कुछ सालों से डेटा से प्राप्त होनेवाले राजस्व में तेजी आई है।”

मंत्री ने कहा कि अभिनव इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) तकनीकें जैसे स्वास्थ्य मॉनिटर, स्मार्ट परिवहन जैसी अन्य परियोजनाओं से मशीन-टू-मशीन सेवाओं (एम2एम) सेवाओं में 21 फीसदी की वृद्धि होगी।

उन्होंने कहा कि मोबाइल डेटा ट्रैफिक में साल 2016 में 76 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई, जिसका मुख्य कारण स्मार्टफोन की बिक्री में आई तेजी है।

‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ का दूसरा गाना ‘ऐ सैयां’ रिलीज

मंत्री ने कहा कि खासतौर से शहरी क्षेत्रों में हैंड हेल्ड डिवाइसों में इंटरनेट का प्रयोग बढ़ा है। साल 2016 में प्रत्येक स्मार्टफोन द्वारा औसतन 559 मेगावाइट्स मोबाइल डेटा सृजित किया गया, जो साल 2015 में 430 मेगावाइट्स प्रति माह थी।

गोवा की बसों में सनी लियोनी के ‘हॉट’ विज्ञापन से बिगड़ रहे स्कूली बच्चे!

उन्होंने कहा कि साल 2021 में वीडियो सामग्री के उपभोग 75 फीसदी होने का अनुमान है जोकि साल 2016 में 49 फीसदी था।