Thursday , October 17 2019

प्रासंगिक फिल्म है ‘बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम’

बुद्धा इनमुंबई| अभिनेता अनुपम खेर ने कहा कि उनकी फिल्म बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम देश में चल रही सामाजिक-राजनीतिक स्थिति के कारण सबसे अधिक प्रासंगिक है। यह फिल्म शुक्रवार को रिलीज हुई।

बुद्धा इन में भ्रष्टाचार और राष्ट्रीय समस्याएं

विवेक अग्निहोत्री द्वारा निर्देशित फिल्म की स्क्रीनिंग पर अनुपम ने कहा, “यह इस समय की सबसे अधिक प्रासंगिक फिल्म है। हमने तीन साल पहले यह फिल्म बनाई थी, लेकिन कुछ कारणों की वजह से यह रिलीज नहीं हो सकी। यह ध्यान में रखते हुए कि देश में क्या हो रहा है, इसकी तुलना में अधिक प्रासंगिक फिल्म कोई नहीं है।”

फिल्म में अनुपम एक बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर के किरदार में हैं, यह ऐसा विश्वविद्यालय है जहां भ्रष्टाचार और अन्य राष्ट्रीय समस्याएं हैं।

हाल ही में राजधानी के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में कथित तौर पर राष्ट्र विरोधी नारे लगाए गए। इसमें कुछ छात्र गिरफ्तार किए गए। फिल्म में अदालत और मीडिया की भागीदारी की समानताएं हैं।

अनुपम ने कहा, “जो हमने तीन साल पहले बनाया वो आज हो रहा है, इसलिए वास्तविक जीवन की कहानी की पर्दे पर उतारी गई है।”

फिल्म ‘बुद्धा इन ए ट्रैफिक जाम’ में माही गिल, पल्लवी जोशी और अरुणोदय सिंह जैसे सितारे हैं।