Sunday , September 15 2019

नगर निगम की मदद करेगा ड्रोन कैमरा, शहर के मकानों की होगी गिनती

ड्रोन कैमरालखनऊ : शहर की सभी संपत्तियों को हाउस टैक्स के दायरे में लाने के लिए नगर निगम अब ड्रोन कैमरे की मदद लेगा। इस कैमरे से संपत्तियों की इमेज लेने के बाद उसका भौतिक परीक्षण भी कराया जाएगा। फिलहाल प्रथम चरण में नगर निगम के पांच वाडरें को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शामिल किया गया है। इसमें चिनहट, रामजीलाल नगर, इस्माइलगंज (द्वितीय),यहियागंज और रानी लक्ष्मी बाई वार्ड को शामिल किया गया है।

गोरखपुर में हुआ दूसरा अस्पताल कांड, इस बार बच्चे नहीं अस्पताल कर्मी बने निशाना

मौजूदा समय नगर निगम ने 5.20 लाख भवनों (आवासीय व अनावासीय) को हाउस टैक्स के दायरे में ले रखा है, लेकिन काफी संपत्तियां कर के दायरे में नहीं ली जा सकी हैं। इसके अलावा नगर निगम सीमा में विकसित हुईं कॉलोनियां भी हाउस टैक्स के दायरे में नहीं आ पाई हैं। शासन ने नगर निगम को अपनी आय बढ़ाने के लिए कहा है, इस कारण वह सभी संपत्तियों को कर के दायरे में लाने में जुटा है। अपर नगर आयुक्त पीके श्रीवास्तव ने बताया कि नगर निगम सीमा के सभी भवनों की गणना कराने के लिए ड्रोन कैमरे की मदद ली जा रही है। इससे भवनों का इमेज लेकर भौतिक परीक्षण कराया जाएगा, जिससे संपत्तियों का मिलान हो सके। अगले सप्ताह से यह काम शुरू हो जाएगा।

सोते रह गए योगी और मोदी, भाजपा के गांधी ने मार लिया मैदान, दिखाया दम, दे डाली चुनौती

अपर नगर आयुक्त ने बताया कि नगर निगम सीमा से जुड़े इलाकों में ड्रोन कैमरे की मदद ली जाएगी। फिलहाल पांच वार्ड को पायलट प्रोजेक्ट में लिया गया है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि अगर उनके मकान के ऊपर से ड्रोन कैमरा गुजरे तो वह घबराएं नहीं।