Monday , July 22 2019

चीन ने फिर दी डोकलाम की चिंगारी को हवा, जारी किया 15 पेज की फैक्टशीट

डोकलाम मुद्दे पर विवादनई दिल्ली। भारत और चीन के बीच डोकलाम मुद्दे पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। चीन ने फिर इस चिंगारी हवा देते हुए बुधवार को 15 पेज की फैक्टशीट जारी की है इस शीट में चीन ने भारत को बिना किसी आपत्ति के डोकलाम से हटने को कहा है। उसने कहा है कि इस मामले में उसने बहुत संयम दिखाया है लेकिन चीन की संप्रभुता की रक्षा के लिए हम हर जरूरी कदम उठाएंगे।

 खुलासा : रस्ते का माल सस्ते में बेच रहे बाबा रामदेव, गाय वाले घी के नाम पर खिला रहे…

इस शीट के द्वारा जारी बयान में चीन ने भारत पर आरोप लगाया है कि भारत भूटान को एक बहाने के तौर पर ही इस्तेमाल कर रहा है, अगर चीन और भूटान के बीच में कोई विवाद है, तो दोनों देशों के बीच ही रहना चाहिए। भारत का इसमें कोई रोल नहीं है।

चीन ने कहा कि भारत इस मुद्दे पर एक तीसरे पक्ष के रूप में एंट्री कर रहा है। डोकलाम के बहाने भारत ने जो किया, वह सिर्फ चीन की संप्रभुता ही नहीं बल्कि भूटान की आजादी और संप्रभुता को भी चुनौती दे रहा है।

चीन ने कहा है कि सन 1890 के चीन-ब्रिटेन के बीच हुए समझौते के मुताबिक डोकलाम चीन का इलाका है। वहां उसकी सेना गश्त लगाती रही है, चरवाहे मवेशी चराते रहे हैं। जब चीन वहां रोड बना रहा था तब 18 जून को 270 सशस्त्र भारतीय सैनिक दो बुलडोजर लेकर चीनी सीमा के 100 मीटर अंदर तक घुस गए। वहां तीन टेंट गाड़ लिए। अब भी 40 सैनिक और एक बुलडोज़र वहां मौजूद हैं।

चीन की यह फैक्टशीट उन्हीं बयानों की तरह है जो विवाद के बाद से ही लगातार पीएलए और विदेश मंत्रालय की ओर से दिया जा रहा था।

मुस्लिमों को मिली सबसे बड़ी चेतावनी, फिर दोहराएगा गुजरात कांड!

बता दे चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग ने मंगलवार को कहा था कि चीन अपनी संप्रभुता और सुरक्षा से कभी समझौता नहीं करेगा और उसकी सेना हर हमले को विफल करने के लिए आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा कि चीन के एक छोटे से हिस्से को भी देश से अलग होने नहीं देंगे।