Friday , November 24 2017

चीनी मीडिया का भारत को ताना- जब से मोदी PM बने हैं भारत का दिमाग खराब हो गया

चीनी मीडियानई दिल्ली। चीन और भारत के बीच चल रहा सीमा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। विवाद के बीच चीनी मीडिया ने लिखा है कि दक्षिण एशिया क्षेत्र में भारत की साख कमजोर हुई है। अखबार ने अपनी वेबसाइट पर लिखा, “दक्षिण एशिया के कई देश भारत के कंट्रोल में हैं, इसके बावजूद इस मुद्दे पर ज्यादातर देशों ने चुप्पी साधी हुई है और कुछ ने चीन का समर्थन किया है।”

चीन की सोशल साइंस अकादमी के ये हेलिन के हवाले से ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, “नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत अपनी शक्तियों को लेकर अति आत्मविश्वास (ओवर कॉन्फिडेंस) में है। भारत को अपने इस आधारहीन आत्मविश्वास की बड़ी कीमत चुकानी होगी।”

ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, “भले ही पिछले कुछ सालों में भारत का आर्थिक विकास चीन की तुलना में अधिक तेज हुआ है। फिर भी भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया में सातवें स्थान पर है, जबकि चीन की अर्थव्यवस्था उससे पांच गुणा मजबूत है।” ये ने कहा, “भारत की अंतरराष्ट्रीय रसूख चीन से प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकती, दक्षिण एशिया में भी नहीं। अगर चीन भारत को अपना दुश्मन मान ले तो भारत के लिए मुश्किल समय शुरू हो चुका है।”

यह भी पढ़ें: यूपी पुलिस ने बीजेपी का जिला अध्यक्ष बनाने की सुपारी ले रखी है: अखिलेश यादव

शंघाई के सोशल साइंस अकादमी के फेलो हू झियोंग के हवाले से ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, “नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका और मालदीव्स जैसे दक्षिण एशियाई देशों की फॉरेन पॉलिसी के डिसीजन मेकिंग में भारत का काफी प्रभाव रहा है। हालांकि, जब बॉर्डर पर भारत चीन को उकसा रहा है तो इन देशों की प्रतिक्रिया से यह साफ पता चलता है कि अब दक्षिण एशिया में भारत की लीडरशिप उतनी मजबूत नहीं रही और ये देश भी इसे भारत के कंट्रोल से खुद को बाहर निकालने के मौके के रूप में देख रहे हैं।”