Friday , November 24 2017

उत्तराखंड सीमा पर चीनी सैनिकों की चल रही गुंडागर्दी

उत्तराखंडचमोलीः उत्तराखंड के चमोली जिले से लगी चीन सीमा के बाडाहोती क्षेत्र में चीनी सैनिकों की सक्रियता से उत्तराखंड सरकार चिंतित है। पिछले कई दिनों से भारत और चीन के बीच तानातनी चल रही है। अब इस तनातनी का खामियाज़ा बाडाहोती बार्डर पर तैनात चरवाहों को भुगतनी पड़ रहा है।

भारत चीन के बाडाहोती बॉर्डर पर चीन सैनिकों ने भारत के चरवाहों के टेंट उखाड़ कर फेक दिया और उनको वहां से भगाया दिया है। आपको बता दें कि ये चरवाहें समय से पहले अपने भेड़ों को लेकर वापस आ गये है। भारतीय चरवाहे हर साल भेड़ चराने के बाद सितम्बर से अक्टूबर के महीने तक वापस होते थे लेकिन इस बार सीमा पर तनातनी होने की वजह से ये अगस्त के महिने में ही वापस लौट आये हैं और हर साल सितंबर तक वापस आते थे।

यह भी पढ़े- पांच सितारा होटल के कर्मचारी ने उतारी महिला की साड़ी, CCTV में कैद हुई घटना

सीमा क्षेत्र में 51 से अधिक चरवाहों को सीमा में रहने के परमिट इस वर्ष प्रशासन ने दिया था।  टेंट उखाड़ने व बाडाहोती से भगाने की घटना 25  जुलाई की है। जिसके बाद ये चरवाहे अब पहुंचे हैं। चरवाहों के अनुसार भारत चीन सीमा पर “होती” नाले के किनारे ही इन्हें वापस कर दिया था। इनके लगाए गए टेंट भी उखाड़ दिए गए थे…..!

 

यह भी पढ़े- जब सती के भयंकर रूप से डर कर भागे भगवान शिव… जानिए

चीन सीमा से सटे चमोली जिले के बाडाहोती में पिछले साल भी चीन सैनिकों की सक्रियता की खबरें आई थीं। उन्होंने भारतीय चरवाहों का खाना भी नष्ट कर दिया था। दो साल पहले चीन के एक हेलिकॉप्टर को भी यहाँ उड़ान भरने की शिकायत सामने आई थी।