Thursday , September 21 2017

आज से ड्रोन लगाएगा संपत्तियों का पता

ड्रोनलखनऊ : नगर निगम गुरुवार से शहर के पांच वाडरें में ड्रोन की मदद से संपत्तियों की इमेज लेगा। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, जिससे नगर निगम सीमा में शामिल सभी संपत्तियों को हाउस टैक्स के दायरे में लाया जा सके। संपत्तियों की इमेज लेने के बाद उसका भौतिक परीक्षण भी कराया जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चिनहट, रामजीलाल नगर, इस्माइलगंज (द्वितीय), यहियागंज और रानी लक्ष्मी बाई वार्ड को शामिल किया गया है।

अपर नगर आयुक्त पीके श्रीवास्तव ने बताया कि नगर निगम सीमा से जुड़े इलाकों में ड्रोन कैमरे की मदद ली जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि अगर उनके मकान के ऊपर से ड्रोन कैमरा गुजरे तो वह घबराएं नहीं। उन्होंने बताया कि परियोजना का मुख्य उद्देश्य डेटा संग्रह और प्रबंधन की प्रक्रिया में सुधार करना है।

राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों की सूची तलब

नगर निगम प्रत्येक संपत्ति के लिए डेटा इकट्ठा कर, एक डिजिटल मानचित्र से जोड़कर संपत्ति डेटाबेस बनाएगा। साक्ष्य आधारित, ऑडिट योग्य डेटा को तेजी से और सटीक रूप से ड्रोन की सहायता से न्यूनतम मानवीय हस्तक्षेप के साथ एकत्र किया जाएगा।

सेना में फर्जी भर्ती कराने वाले गिरोह के 2 सदस्य गिरफ्तार

इस पूरी प्रक्रिया से पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी। शहरवासियों को अपनी संपत्ति डेटा को ऑनलाइन देखने, संपत्ति संबंधी जानकारी अपडेट करने, संपत्ति कर ऑनलाइन भुगतान करने और शिकायतों को दर्ज कराने में भी मदद मिलेगी। प्रत्येक संपत्ति को एक अद्वितीय संपत्ति आइडी दी जाएगी। प्रत्येक संपत्ति को मालिक के आधार कार्ड से जोड़ने की योजना है। इसके अलावा संपत्ति के आंकड़ों को अन्य विभागों व एजेंसियों के डेटाबेस के साथ एकीकृत किया जाएगा।