Thursday , December 12 2019

अमेरिका के बाद अब आसियान ने उतारी उत्तर कोरिया की गर्मी, तानाशाह को दिखाई औकात

उत्तर कोरिया के मिसाइलमनीला। दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संघ (आसियान) के नेताओं ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों पर चिंता व्यक्त करते हुए देश से अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों का गंभीरता से पालन करने की अपील की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ब्रुनेई, कम्बोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थायलैंड और वियतनाम के नेताओं ने शनिवार को मनीला में 30वें वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया।

उत्तर कोरिया के मिसाइल कार्यक्रम पर बढ़ा आक्रोश

फिलीपींस इस साल आसियान सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहा है। देश के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने रविवार को आधिकारिक तौर पर अध्यक्ष का बयान जारी किया।

शिखर सम्मेलन की समाप्ति के बाद आसियान नेताओं ने बयान में कहा, “हमने कोरियाई प्रायद्वीप की स्थिति पर चर्चा की और हम 2016 (उत्तर कोरिया के) के दो परमाणु परीक्षणों और उसके साथ ही बैलिस्टिक मिसाइलों की प्रौद्योगिकी के प्रयोग से हुए परीक्षणों समेत हालिया घटनाक्रम को लेकर बेहद चिंतित हैं।”

नेताओं ने कहा, “हमने (उत्तर कोरिया से) अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करने वाली ऐसी सभी गतिविधियां तत्काल रोकने की अपील की है।”

नेताओं ने कहा, “हमने (उत्तर कोरिया से) इन प्रस्तावों के अनुपालन का मजबूती से आग्रह किया है और आत्मसंयम बरतने के महत्व को स्वीकार किया है। हमने साथ ही सभी पक्षों से दुनिया और क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम रखने के दिशा में सामूहिक प्रयास करने का आग्रह किया है।”