Thursday , December 14 2017

अब वकीलों का चक्कर छोडि़ए, घर बैठे मिलेगी काूननी सलाह

नई दिल्ली। अमूमन कानूनी सलाह लेने या आयकर रिटर्न के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए वकीलों का चक्कर काटने में हम न जाने कितने घंटे बाहर गुजारते हैं। लेकिन अब ये दिन पुरानी बात हो जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी स्टार्टअप योजना के तहत एक नए पोर्टल की शुरुआत हुई है। विशेषज्ञ डॉट इन नामक इस पोर्टल के जरिये अपने घरों या कार्यालयों में बैठे हुए आप न सिर्फ वकील, सीए, सीएस या सीएमए से संपर्क साध सकते हैं वरन उनसे समय लेकर वीडियो या ऑडियो माध्यमों से बातचीत कर सकते हैं।

विशेषज्ञ डॉट इन
विशेषज्ञ डॉट इन

अपने तरह की नायाब सेवा प्रदाता कंपनी की संस्थापक और विशेषज्ञ डॉट इन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रश्मि खेत्रपाल ने कहा, ‘इस प्लेटफॉर्म पर देश भर के संबद्ध पेशेवर अपने को जोड़ सकते हैं। इसके बाद दुनिया के किसी भी हिस्से में बैठा हुआ व्यक्ति अपनी सहूलियत के हिसाब से खुद को रजिस्टर करने के बाद अपने मतलब के विशेषज्ञ को ढूंढ सकता है और उसके बाद उनसे समय ले सकता है और फिर शुल्क का भुगतान कर वीडियो या ऑडियो माध्यम से बातचीत कर सकते हैं। वकीलों का चक्कर काटने से उसे मुक्ति मिल जाएगी।’

उन्होंने बताया कि इसके अलावा कोई भी सदस्य निशुल्क तरीके से अपने दस्तावेजों को वेबसाइट पर अपलोड कर सकता है और दुनिया के किसी भी हिस्से से उसे अपने उपयोग में ला सकता है। यहीं नहीं ऑडियो या वीडियो चैट के दौरान जरूरत के अनुसार आप ऑनलाइन तरीके से दस्तावेजों को एक-दूसरे से साझा कर सकते हैं।

उनका मानना है कि इसके जरिये दूर-दराज के स्थानों पर बैठे प्रतिभाशाली लोगों और घरों में बैठी महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध हो पाएंगे और लोग भी अपनी जरूरत के हिसाब से विशषज्ञों तक पहुंच पाएंगे। खेत्रपाल ने बताया कि अपने सुरक्षा फीचर के कारण इसे हम ‘ई-लॉकर’ कह सकते हैं।

कंपनी का नामकरण एक्सपर्ट के बजाय विशेषज्ञ रखे जाने के बारे में पूछे जाने पर सीईओ ने कहा कि वह भारतीय हैं और इस कारण उनका मानना है कि ये शब्द लोगों को ज्यादा आकर्षित करता है। एक सीए के रूप में सोलह वर्ष के अपने अनुभव के बाद उनके इस स्टार्टअप का लक्ष्य इस पेशे के पारंपरिक व्यवस्था में परिवर्तन लाना है।

इस सप्ताह इस वेबसाइट की शुरुआत करने वाली खेत्रपाल ने कहा, “एक महीने के भीतर हम लोग एक मोबाइल एप लांच करेंगे जो आम लोगों को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है और कोई व्यक्ति जो तकनीक में बहुत अधिक दक्ष नहीं हो, वह भी आसानी से इसका उपयोग करके सेवा प्राप्त कर सकेगा।”