Wednesday , November 13 2019

अब छपाई के लिए 3डी ग्लास का इस्तेमाल संभव

3डीलंदन। इंजीनियरों के दल ने एक प्रक्रिया विकसित की है, जिसके द्वारा अब कांच वाले जटिल 3डी से छपाई संभव है। जर्मनी के कार्लस्रुहे इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलाजी (केआईटी) के वैज्ञानिकों ने उच्च शुद्धता वाले क्वार्ट्ज कांच के नैनोकणों और तरल पॉलीमर की छोटी मात्रा को मिलाया और इस मिश्रण को प्रकाश के जरिए एक विशेष बिंदु पर स्टीरियोलिथोग्राफी से उपचारित किया।

इस प्रक्रिया में पदार्थ जो तरल बना रहा उसे एक विलायक के जरिए धो दिया गया। इससे वांछित उपचारित संरचना बची रही। पॉलीमर अब भी कांच में मिला रहा। इसे धीरे-धीरे गर्म करके हटाया गया।

केआईटी इंस्टीट्यूट के माइक्रोस्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी के बस्टियन ई. रेप ने कहा, “इसका आकार शुरू में एक पाउंड केक जैसा दिखता है, यह अभी भी अस्थिर है और इसलिए अंतिम चरण में पाउडर के रूप वाले कांच को इतना अधिक गर्म किया जाता है कि कांच के कण आपस में मिल जाए।”

वैज्ञानिकों ने इस प्रक्रिया को नेचर पत्रिका में प्रकाशित किया है।

केआईटी के वैज्ञानिकों द्वारा बनाई गई कांच की संरचना कुछ माइक्रोमीटर के रेंज में रिजोल्यूशन दिखाती है। एक माइक्रोमीटर एक मिलीमीटर का हजारवां भाग है।

3डी वाले कांच का इस्तेमाल डेटा प्रौद्योगिकी में करते हैं।